Diwali remedies Hindi

राशि अनुसार दिवाली के उपाय की क्या आवश्यकता है?

What is the need to do Diwali remedies according to your birth sign?

दीपावली हिंदुओं में बहुत ही बड़ा और शुभ त्यौहार माना जाता है – कारण कि इस अवसर पर गृह – दशाओं से विशेष अति शुभ मुहूर्त बनते हैं.  उसी प्रकार हर व्यक्ति के जीवन में भी ग्रहों की चाल तथा महा दशाओं व अंतर्दशाओं का प्रभाव समय समय पर पड़ता रहता है और बदलता रहता है. इसलिए आवश्यक है कि आप अपनी राशि और दशा के अनुसार दिवाली के उपाय (Diwali Remedies) करें – इससे आपको सटीक और इच्छानुसार फल प्राप्त होगा.

राशिनुसार दिवाली के उपाय / Diwali Remedies according to your Rashi:

मेष राशि:

 

कोई भी कारण हो, कम से कम इस दीपावली के पांच दिनों तक क्रोध बिलकुल न करें. किसी से भी मुफ्त में कुछ भी न लें. भेंट के प्रतिरूप भेंट जरूर दें. 

विशेष:      लक्ष्मीजी और गणेशजी की पूजा लाल वस्त्रों, लाल फूलों तथा लाल चन्दन से करें.  नैऋत्य (साउथ-वेस्ट) कोने में सरसों के तेल का दिया रातभर जलाएं.  ११ बार महा मृत्युंजय मंत्र का जाप करें.

वृषभ राशि:

इस दिवाली को नए रेशमी वस्त्र पहनें और इत्र/सुगंध जरूर लगाएं. किसी भी मंदिर में गुड़ का दान अवश्य दें.

विशेष:       एक पीतल की डिब्बी में थोड़ा शहद लें; ढक्कन कसकर बंद कर दें और इस डिब्बी को अपने घर में रखें. घर के मुख्य द्वार पर घी के दो दीपक जलाएं. स्फटिक की माला से ‘ऊँ ऐं क्लीं श्रीं’ का जाप करें.

मिथुन राशि:

लक्ष्मी-गणेश की पूजा करते समय दक्षिणावर्ती शंख की भी पूजा करें और उसे तिजोरी में रखें. किसी बुजुर्ग व्यक्ति को जूता या कम्बल दान दें.

विशेष:      कुत्ते की सेवा अवश्य करें. उसे भोजन खिलाएं. दुर्गा देवी के मंदिर में बादाम और नारियल की भेंट चढ़ाएं. कमलगट्टे की माला से ‘ऊँ क्लीं ऐं स:’ मंत्र का जप करें.

कर्क राशि:

शरीर पर सोना (सुवर्ण) जरूर धारण करें और केसर का तिलक लगाएं. किसी जरूरतमंद व्यक्ति को सवा किलो उरद की दाल का दान करें.

विशेष:      धनतेरस की शाम को पीपल के पेड़ के नीचे तेल का पंचमुखी दीपक जलाएं. अपनी माँ से चांदी या चावल के दाने के उपहार ले. एक पोटली में बांधें और इसे हमेशा अपने पास रखें.

सिंह राशि:

घर के मुख्य द्वार पर गाय के घी का दीपक जला कर रखें. नेत्रहीन व्यक्तियों को मिठाई अवश्य दें. पूजा के समाप्ति के बाद शंख जरूर बजाएं.

विशेष:     घर के नैऋत्य (साउथ-वेस्ट) कोने में सरसों के तेल का दीपक रातभर जलाएं.  घर के मंदिर में ‘श्री यन्त्र’ स्थापित करें.

कन्या राशि:

अपने घर की दहलीज पर एक लोहे की कील ठोक दें. पूजा करते समय रेशमी कपडे का आसान बिछाएं. गरीबों को भोजन कराएं.

विशेष:     दीपावली की रात को लाल रुमाल में नारियल बांधकर अपनी तिजोरी या गल्ले में रखें. अपनी पुत्री को चांदी की नथ भेंट दें.

तुला राशि:

दिवाली के पांचों दिन घर में गौ-मूत्र का छिड़काव करें. दूध अथवा दही का तिलक लगाएं. गाय को हरा चारा या बाजरे की रोटी खिलाये.

विशेष:     दीपावली की रात दुर्गा चालीस का पाठ अवश्य करें. घर की पश्चिम दिशा में घी का दीपक तथा नैऋत्य कोण में सरसों के तेल का दीपक प्रज्वलित करें.

वृश्चिक राशि:

किसी मंदिर के परांगण में केले के दो पेड़ लगाएं. उनकी देखभाल की व्यवस्था करें. परंतु उनके फल का स्वयं सेवन न करें. हनुमानजी के मंदिर में सिन्दूर, लाल वस्त्र और मोतिचूर लड्डू चड़ाएं.

विशेष:      घर के ब्रह्मस्थल (बीचोबीच) पर घी का दीपक रातभर जलाएं. कमलगट्टे की माला से ‘ऊँ ऐं क्लीं सौ:’ मंत्र का जप करें. हनुमान चालीस का पाठ करें.

 

धनु राशि:

अपने पिता, गुरु या किसी बुजुर्ग व्यक्ति को भेंट अवश्य दें.  पीपल के वृक्ष को जल अर्पित करके घी का दीपक जलाएं. हलके नीले रंग के आसन पर बैठ कर पूजा करें.

विशेष:      एक पान के पत्ते पर ‘श्रीं’ मंत्र रोली या लाल चन्दन से लिख कर उसे अपनी तिजोरी में रखें.  गेहूं की रोटी पर घी चोपड़ कर गाय को खिलाएं.

मकर राशि:

घर की दक्षिण दिशा में सरसों के तेल का दीपक जलाएं.  दीपावली के पांचों दिन मांस और मदिरा का सेवन न करें. 

विशेष:     लक्ष्मी पूजा में रेवड़ियों का अथवा सफ़ेद तिल की किसी मिठाई का प्रसाद रखें. दीवाली की रात किसी चौराहे पर तेल का दीपक जलाकर रख आएं और घर लौटकर आ जाएं। पीछे पलटकर न देखें।

 

 

कुम्भ राशि:

दीपावली की रात खीर का भोग माता लक्ष्मी को लगाएं और फिर स्वयं भी खाएं. बरगद की जड़ को एक सूती धागे में बाँध कर अपने घर के मुख्य द्वार पर टांग दें. 

 

विशेष:      पीले कपडे में 11 हल्दी की गांठें बांध कर ‘वक्रतुण्डाय हुंम’ का 108 बार जाप कर के अगली दीपावली तक अपनी तिजोरी में रख दें. धन की कमी न होगी.

मीन राशि:

दिवाली की शाम शनि मंदिर में दीपक, तेल तथा काली उड़द का दान करें . दिवाली की रात एक बड़ा घी का दीपक लेकर उसमें नौ बत्तियां जलाकर पूजा करें.  घर के पश्चिम दिशा में 8 दिए अवश्य जलाये.

विशेष:      दीपावली के दिन किसी लक्ष्मी मंदिर में जाकर कमल के फूल, नारियल और किसी सफेद मिठाई का भोग लगाएं. इससे आपकी धन की परेशानी समाप्त हो जाएगी.

🙏 आप सभी को दिवाली की ढेर सारी शुभकामनाएं 🙏

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *